नवंबर 29, 2014

सरे राह किसने भरी मांग में सिंदूर------

रजनीश कुमार
मुकेश कुमार सिंह की कलम से-----
अगर आपके घर में कोई मासूम बच्ची है और वह पढ़ने के लिए स्कूल,कॉलेज या फिर कोचिंग जा रही है तो हो जाइए होशियार.जनाब राह चलता कोई मनचला कहीं आपकी घर की ईज्जत की मांग में सिंदूर ना डाल दे.ताजा वाकया सहरसा के सदर थाना के नया बाजार की है जहां एक मनचले आशिक ने अपने कुछ मित्रों साथ मिलकर दशवीं कक्षा की एक छात्रा को कोचिंग जाने के दौरान जबरन ना केवल उसकी मांग में सिंदूर डाल दिया बल्कि उसे अगवा कर ले भागने की कोशिश भी की.हांलांकि किसी तरह लड़की ने अपनी जान बचाई और अपने परिजन के साथ थाने पहुंची,जहां पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए मुख्य आरोपी को अपनी गिरफ्त में ले लिया है.दिन--दहाड़े घटी इस घटना से इलाके में सनसनी फैली हुयी है.
 
सदर थाने में मौजूद यह बच्ची राजकीय कन्या हाई स्कूल की दशवीं कक्षा की छात्रा है.आज सुबह यह सदर थाना के न्यू कॉलोनी स्थित अपने आवास से वह नया बाजार पढ़ने के लिए कोचिंग जा रही थी.कोचिंग से कुछ पहले ही सदर थाना के न्यू कॉलोनी मोहल्ले का रहने वाले रजनीश कुमार अपने चार--पांच साथियों के साथ घात लगाए हुए बैठा हुआ था.मासूम जैसे ही वहाँ पहुंची रजनीश ने पहले तो उसे दबोच लिया फिर जबरन उसकी मांग में सिंदूर डाल दिया.इतना ही नहीं रजनीश ने पुलिस लिखे नंबर प्लेट वाली मोटरसाईकिल से मासूम को लेकर भागने की कोशिश भी की.लेकिन किसी तरह से अपना हाथ छुड़ाकर मासूम पड़ोस के एक घर में घुसकर पहले तो अपनी जान बचाई फिर वहीँ से अपने परिजन को फोन किया.फिर वह अपने परिजन के साथ थाने पहुंची जहां मासूम के पिता सतीश कुमार झा के आवेदन पर मामला दर्ज करते हुए पुलिस ने त्वरित गति से मुख्य आरोपी को अपनी गिरफ्त में ले लिया.गौरतलब है की रजनीश पिछले कई महीने से मासूम के साथ छेड़खानी और जोर--जबरदस्ती कर रहा था.
इधर पुलिस की गिरफ्त में आये रजनीश का कहना है की मासूम उससे एकतरफा प्यार करती थी.वह बीए पार्ट वन का छात्र है.बीते कई महीने से मासूम उसे ना केवल फोन करती थी बल्कि उसे गिफ्ट भी देती थी.लेकिन वह मासूम से प्यार नहीं करता था.उसने पहले भी मासूम को कई दफा समझाया था की वह उससे प्यार नहीं करता है.आज भी वह मासूम को समझाने की कोशिश कर रहा था लेकिन मासूम ने अपने पर्स में रखे सिंदूर को जबरन निकालकर उसके हाथ में दे दिया और जबरदस्ती अपने मांग में लगा लिया.खुद को बेकसूर बताते हुए रजनीश कह रहा है की प्यार में अंधी हुयी मासूम ने उसे फंसा डाला.पुलिस के अधिकारी मृत्युंजय कुमार चौधरी,ए.एस.पी,सहरसा घटना के बाबत जानकारी देते हुए कह रहे हैं की मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी की जा चुकी है और पुलिस आगे का अनुसंधान कर रही है.आगे अगर इस मामले में अन्य की संलिप्तता की बात सामने आएगी तो उनकी भी गिरफ्तारी होगी.
घोर कलयुग आ गया है.कानून और पुलिस वाले दहशतगर्दों के सामने बिल्कुल बौने साबित हो रहे हैं.आगे इस मामले में जैसी भी कार्रवाई हो लेकिन फिलवक्त इलाके के वैसे माँ--बाप जिनको बेटियां हैं वे अपनी--अपनी बेटी को लेकर खासे चिंतित और खौफजदा हैं.

2 टिप्‍पणियां:

  1. दोनों के कॉल डिटेल निकाले जाएं मामला साफ हो जाएगा.

    उत्तर देंहटाएं
  2. I do agree wth Abninav Anand. Get call details..........case vl be solved.

    उत्तर देंहटाएं


THANKS FOR YOURS COMMENTS.

*अपनी बात*

अपनी बात---थोड़ी भावनाओं की तासीर,थोड़ी दिल की रजामंदी और थोड़ी जिस्मानी धधक वाली मुहब्बत कई शाख पर बैठती है ।लेकिन रूहानी मुहब्बत ना केवल एक जगह काबिज और कायम रहती है बल्कि ताउम्र उसी इक शख्सियत के संग कुलाचें भरती है ।